आखिरकार साकार हुआ नेपाल में बहुप्रतीक्षित रेल का सपना

  • निर्माणाधीन विराटनगर रेलवे लिंक का किया गया परीक्षण
  • भारतीय क्षेत्र में पांच किमी व नेपाली क्षेत्र के तीन किमी में किया गया परीक्षण
  • दिसम्बर माह तक रेलवे संचालन पर चल रही बातचीत

अरुण वर्मा

काठमाण्डु (नेपाल)। निर्माणाधीन विराटनगर बनथाह रेलवे लिंक मार्ग पर रेल इंजन का सफल परीक्षण संपन्न हो गया। भारत के बथनाहा से विराटनगर कस्टम यार्ड तक पहला रेलवे इंजन का सफल परीक्षण सम्पन्न होने पर दोनों ही देशों के लोगो मे खुशी व्याप्त है। भारतीय क्षेत्र में 5 किमी जबकि नेपाल की सीमा में 3 किलोमिटर यात्रा तय करने में रेलवे इंजन को करीब एक घण्टा का समय लगा। निर्माणाधीन रेलवे परियोजना के पहले चरण में नेपाल व भारत की तरफ कुल आठ किलोमीटर का काम अंतिम चरण में है।

करीब डेढ महीने के अंदर इस का को पूर्ण कर लिए जाने व उसके बाद क्षेत्र हस्तांतरण का काम होना बाकी है।इसकी जानकारी देते हुए भारतीय निर्माण कम्पनी इरकोन के सहायक महाप्रबन्धक नागेन्द्र कुमार ने बताया कि जल्द ही इस काम को सम्पन्न करा लिया जाएगा।

भारत बथनाहा से होकर नेपाल के विराटनगर कटहरी गाउँपालिका दो तक कुल रेलवे लाइन की लंबाई 18.1 किलोमिटर है। जिसके क्रम में 8 किलोमिटर क्षेत्र का काम केन्द्रीत कर कार्यदायी संस्था इरकोन ने हुलाकी मार्ग के कटहरी क्षेत्र तक का काम सम्पन्न करा दिया है। हुलाकी राजमार्ग की तरफ रेलवे ट्रैक खोलने में भूमि मुआवजा विवाद के कारण अबतक नेपाल द्वारा उक्त भूमि को भारतीय कार्यदायी संस्था को हस्तांतरित नही किया जा सका है जिसके कारण काम की प्रगति में बाधा आ रही है। इसकी जानकारी बथनाह विराटनगर रेलवे प्रोजेक्ट के प्रमुख अश्विनी कुमार ने दी।

12 दिसम्बर  जनकपुर-जयनगर क्षेत्र के रेलवे लाइन का उद्घाटन करने की तैयारियां चल रही है । जिसमें भारत के बथनाह से नेपाल विराटनगर कष्टम यार्ड तक उद्घाटन की भी बात बताई जा रही है। जिसका प्रधानमन्त्री केपी शर्मा ओली व भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा संयुक्त रूप से किया जाना है।