इस त्यौहार एमआई और सैमसंग में होगी जोरदार टक्कर

सुनील शर्मा

नई दिल्ली। चाइनीज ब्रांड शाओमी अपने एमआई फोन और दक्षिण कोरिया की कंपनी सैमसंग इस बार जबरदस्त टक्कर के मूड में है, आगामी त्योहारी सीजन को देखते हुए दोनों ही कंपनियों ने जोरदार होमवर्क किया है और कई ब्रांड के साथ मध्यम वर्ग के उपभोक्ताओं पर छा जाने को तैयार है। सैमसंग और शाओमी में यह पहली जंग नहीं है, इससे पहले दोनों कंपनियां अलग-अलग क्षेत्रों में एक दूसरे से टक्कर दे चुकी हैं।
जानकारों का कहना है कि शाओमी ई-ब्रांड यानी ऑनलाइन बाजार की सबसे बड़ी कंपनी है। वहीं सैमसंग के 60 परसेंट से ज्यादा फोन उसके लकदक सजे शोरूम से बिक जाते हैं। शाओमी इंडिया के हेड मनु कुमार जैन की माने तो हम इंडिया के नंबर वन ब्रांड है। पहली तिमाही में कंपनी ने एक करोड़ से ज्यादा हैंडसेट बेचे हैं, इसलिए कंपनी को अभी घबराने की कोई जरूरत नहीं है। सैमसंग अपने ब्रांड को लेकर सजग है हम लोग भी कोशिश कर रहे हैं ऑनलाइन बाजार से बाहर निकलकर शोरूम तक पहुंचे और गांव के अंतिम व्यक्ति के हाथ में एम आई का फोन हो।


सैमसंग के चीफ एग्जीक्यूटिव कहते हैं कि कंपनी ने हमेशा से भारत में कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना किया है। बावजूद उसके कंपनी नंबर-एक पर काबिज है इसलिए हम अपने रोडमैप में कोई बदलाव नहीं करने जा रहे हैं। कुछ दिनों बाद हम लोग भी ई बाजार पर ध्यान देने को तैयार हैं। अब देखना यह है ऑनलाइन मार्केट के ग्राहक सैमसंग को कितना पसंद करते हैं। बताते चलें कि शाओमी फोन ऑन लाइन सेगमेंट की सबसे बड़ी कंपनी है। यह दुनिया के ऑनलाइन मार्केट पर काबिज है।

इलेक्ट्रानिक गैजेट्स के विश्लेषण का काम कर रही काउंटर पॉइंट की अंशिका जैन कहती हैं, कि भारत में विवो, ओप्पो, एम आई और सैमसंग जैसे चार ब्रांड मार्केट में तेजी से भी करें जबकि आई फोन आज भी इंडिया की क्लास पसंद है। हाई सोसाइटी के लोग हर हाल में आई फोन खरीदते हैं, हालांकि यह संख्या फुल हैंडसेट की महज 3% है अब एमआई और गैलेक्सी एक दूसरे से कड़ी टक्कर ले रही हैं, तो जायज है इंडिया में विवो और ओप्पो का भी बाजार तेजी से ग्रोथ करेगा और दोनों कंपनियों को इन दोनों कंपनियों से कड़ी टक्कर मिलेगी। हालांकि त्यौहार के लिए सारी सारी कंपनियां कमर कस कर तैयार है, और अपने नए नए हैंडसेट बाजार में उतार चुकी हैं।