ऐसे टालें घर पर आने वाली हर विपदा

यह सही है कि मछलियों को अठखेलियां करते देखने से मानसिक शांति मिलती है, वहीं फेंगशुई में कहा गया है कि मछली धन को आकर्षित करती है और आपदा अपने सर ले लेती है। फेंगशुई के अनुसार ये नन्हीं सी मछलियां हमारी सारी मुसीबतों को अपने सर ले लेती हैं। इस प्रकार के छोटे से मछली घर को एक्केरियम कहा जाता है। एक्केरियम सिर्फ मन को प्रसन्नता नहीं देते बल्कि फेंगशुई के अनुसार इनसे घर के सदस्यों के ऊपर आने वाली विपत्तियां टलती है एवं घर में धन सम्पत्ति के आगमन में निरंतरता बनी रहती है। लेकिन फेंगशुई के कुछ नियम हैं जिनका पालन करते हुए एक्केरियम रखा जाए तभी इसका समुचित लाभ मिल पाता है। एक्केरियम में मछलियों की संख्या विशेष महत्व है। फेंगशुई के अनुसार एक्केरियम में मछलियों की संख्या कम से कम नौ होनी चाहिए। आठ मछलियां लाल अथवा सुनहरे रंग की होनी चाहिए, जबकि एक मछली काले रंग की। ज्योतिषशास्त्र में ग्रहों की संख्या नौ बतायी गई है। संभव है कि इन्हीं कारणों से फेंगशुई में नौ मछलियां एक्केरियम में रखने की बात कही गई हैं। सुंदरता में बेजोड़ इतनी महंगी मछलियों को खरीदने और उन्हें पालने के शौकीन लोग  भी है, जो मछलियों का व्यापार करने वालों के यहां महंगी मछलियों को लाने के लिए न सिर्फ पहले से आर्डर कर देते हैं। बल्कि ऐसी मछलियों के आते ही उन्हें खरीदने के लिए एक दूसरे से बढ़कर बोली तक लगाते है।