अगर आप भी जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं स्मार्ट फोन तो हो जाएं सावधान

कहीं यह वरदान हमारे लिए मुसीबत तो नहीं बन रहा है

नया लुक डेस्क, नई दिल्ली।
आज के समय में स्मार्ट फोन हमारी जरूरत बन कर रह गये हैं। सब के हाथ में आज फोन है। हर कोई एक—दूसरे से फोन से कनेक्ट है। शॉपिंग से लेकर खाना बनाने तक का सारा काम आप घर बैठे स्मार्टफोन पर कर सकते हैं। स्मार्ट फोन से हमारा जीवन थोडा सरल हुआ है इसलिए ऐसा कहना गलत नहीं होगा कि स्मार्टफोन हमारे लिए एक वरदान से कम नहीं हैं। लेकिन इसके साथ ही हमें यह भी ध्यान देना होगा कि कहीं यह वरदान हमारे लिए मुसिबत तो नहीं बन रहा है? कहीं आपको स्मार्टफोन की लत तो नहीं लग गई है। अगर ऐसा है तो जरा संभल जाएं। दरअसल स्मार्टफोन का हद से ज्यादा इस्तेमाल किसी खतरनाक बीमारी से कम नहीं है।


बता दें कि मोबाइल का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल आपको शारीरिक एवं मानसिक रूप से बीमार बना सकता है। हाल ही में हुई स्टडी से पता चला है कि मोबाइल का हद से ज्यादा इस्तेमाल कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का कारण भी बन सकता है। क्योंकि खाते समय, कहीं जाते समय, गाडी चलाते समय, सोते समय, आप कहीं भी क्यों न हों, कोई भी काम कर रहे हों, आपका मोबाइल आपके हाथों से दूर नहीं होता। अगर आप घर में या ऑफिस में हैं तो अपने मोबाइल फोन के स्थान पर लैंडलाइन का इस्तेमाल करें, इससे आप इसकी हानिकारक किरणों की चपेट में आने से बच सकते हैं। कई अध्ययनों से पता चला है कि मोबाइल फोन के अधिक इस्तेमाल से नींद से संबंधित समस्याएं पैदा हो सकती हैं। देर रात तक फोन पर बातें करने से व्यक्ति को स्लीप डिसऑर्डर जैसी समस्या हो सकती है।


थोडे समय के लिए फोन से रहें दूर
मोबाइल फोन का ज्यादा इस्तेमाल आपके दिमागी सेल्स को तो प्रभावित करता ही है साथ ही आपको कैंसर से भी पीड़ित कर सकता है। अगर हम दुनियाभर के देशों की चर्चा करें तो इसे लेकर सभी सभी देशों में कुछ न कुछ डिबेट तो चलती ही रहती है। विश्वभर में मोबाइल रेडिएशन को लेकर सभी चिंता में है लेकिन क्या यह बात जानकारी की मोबाइल फोंस से आपके दिमाग के सेल्स नष्ट होते हैं, साथ ही आप कैंसर से भी पीड़ित हो सकते हैं। क्या आप मोबाइल फोन का इस्तेमाल करना बंद कर देंगे? आज यह भी एक बड़ा सवाल है और इसका जवाब आजकल की पीढ़ी के पास तो मेरे खयाल में नहीं है। सभी जगह युवा आज अपने मोबाइल फोन को ही सब मान बैठे हैं, जहां ऐसा माना जाता है कि अपने शरीर से कुछ दूरी पर मोबाइल फोन का इस्तेमाल करना चाहिए, वहां आज हमारे युवा इसे अपने शरीर से लगा के रखते हैं।


इस बात को आपको सभी प्रकार से गाँठ बाँध लेना है कि आपको फोन को जितना हो सके अपने शरीर से दूर रखना।

अपने फोन को दिल के करीब वाली जेब में कभी न रखें, इसके अलावा अगर आप इसे अपनी पेंट की जेब में रखते हैं, तो यह भी आपके लिए सही नहीं है। ऐसा करने से आप मोबाइल फोन से होने वाले रेडिएशन से ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं। अगर आप मोबाइल फोन की डायरेक्ट किरणों से अपने आप को बचाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि आप इसके माध्यम से स्पीकर फोन पर बातें कर सकते हैं। हालाँकि आपको ऐसा लग सकता है कि कोई दूसरा भी आपकी बातों को सुन रहा है, लेकिन आपका फोन आपके शरीर से तो दूर रहेगा।