कुशासन, भ्रष्टाचार और अपराध की आग में झोंकने वाले अवसरवादी दलों का गठबंधन..भाजपा

  • अखिलेश भी मायावती की तरह  गेस्ट हाऊस कांड भूल गए है क्या?
  • सपा के कहर से मायावती को किसने बचाया था?
  • क्या गेस्ट हाउस कांड में शामिल सपा नेताओं को अखिलेश पार्टी से निकालेंगे?

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय ने सपा बसपा गठबंधन पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ये गठबंधन उत्तर प्रदेश को कुशासन, भ्रष्टाचार और अपराध की आग में झोंकने वाले अवसरवादी दलों का गठबंधन है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने गांव,गरीब, दलित,पिछडो, अगडो,समाज के सभी वर्गों के लिए काम किया और सुशासन की पहचान बनाई। उन्होंने कहा यह एक गुनाहबंधन हैं, जो एक दूसरे के गुनाहों को ढकने, छिपाने व अस्तित्व बचाने के लिए किया गया है। डॉ पांडेय ने कहा आज ही(ई वि ए)  पर सवाल उठा कर मायावती जी ने अपनी हार स्वीकार कर ली है। उन्होंने सपा बसपा को चुनौती देते हुए कहा कि हमारे पास नरेंद्र मोदी जैसा नेतृत्व है, दुनिया की किसी भी प्रणाली से चुनाव करा दिया जाए उत्तर प्रदेश में गठबंधन की हार तय है।
डॉ पांडेय ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव द्वारा भाजपा पर मायावती के अपमान का आरोप लगाए जाने को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि  मायावती ने दलितों गरीबो वंचितों और शोषितों की गुनाहगार सपा से हाथ मिलाया है।स्वर्गीय काशीराम की विरासत और दलितों के विश्वास  का सौदा मायावती ने कर लिया ।
डॉ पांडेय ने कहा की गठबंधन में एक दल एनआरएचएम, स्मारक, चीनी मिल के भ्रष्टाचार का गुनाहगार, दूसरी तरफ रिवरफ्रन्ट, यूपीएससी भर्ती व खनन घोटाले के गुनहगार है। उन्होंने कहा मोदी की सुनामी चल रही है। उसी के डर की उपज है गठबंधन।इसका भाजपा पर कोई प्रभाव नहीं पडेगा, जनता को पता है कि देश के लिए कौन खड़ा है।
प्रदेश भाजपाध्यक्ष ने कहा कि जनता को पता है अपना घर, अपना परिवार और अपनी दौलत के लिए ही कौन काम कर रहा है, जनता को पता है कौन पाकिस्तान में घुसकर बदला ले सकता है और कौन आंतकियों की पैरवी करता है, आतंकियों के मुकदमे वापसी की पहल करता है।
हम मोदी  के नेतृत्व में 51 प्रतिशत मत प्राप्त करने के संकल्प के साथ चुनाव मैदान में जा रहे है। हमारा गठबंधन जनता के साथ है जो इन साढे़ चार वर्षों में और अटूट हुआ है। डाॅ. पाण्डेय कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों मेें सपा बसपा का गठबंधन कहीं टिकेगा नहीं जनता सब जानती है। लोकसभा चुनाव में जनता एक बार फिर से नरेन्द्र मोदी को फिर प्रधानमंत्री बनाने और एक मजबूत सरकार बनाने के लिए भाजपा को विजयी  बनाने के लिए कृतसंकल्पित है।