कड़े सुरक्षा प्रबन्धों के बीच सम्पन्न हुई टीईटी परीक्षा

  • 1042 लोगों ने छोड़ी परीक्षा, डीएम व एसपी ने भ्रमणशील रहकर परीक्षा पर रखी पैनी नजर
  • आठ सेक्टर , 31 स्टेटिक मजिस्ट्रेट व 31 पर्यवेक्षक रहे तैनात, शुचितापूर्ण सम्पन्न हुई परीक्षा

गोंडा। जिले में शिक्षक पात्रता परीक्षा टीईटी परीक्षा पूरी सुचिता व पारदर्शिता के साथ सम्पन्न हो गई। 19706 परीक्षार्थियों में से 1042 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी जिनमें से प्रथम पाली में  684 तथा द्वितीय पाली में 358 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी।

बताते चलें कि जिला प्रशासन द्वारा परीक्षा को शुचितापूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए व्यापक रणनीति तैयार की गई थी।  19706 परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होना था जिनमें 13406 प्राइमरी के लिए तथा 6300 परीक्षार्थी उच्च प्राथमिक विद्यालयों के लिए शामिल होने थे। प्रथम पाली की परीक्षा के लिए 21 तथा द्वितीय पाली की परीक्षा के लिए 10 केन्द्रों सहित कुल 31 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे। पूरे परीक्षा केन्द्रों को 8 सेक्टर में बांटा गया था। इसके लिए 31 स्टेटिक मजिस्ट्रेटों तथा शिक्षा विभाग के 31 पर्यवेक्षको की तैनाती की गई थी। परीक्षा शुरू होने के पूर्व डीएम व एसपी ने सुबह कोषागार पहुंचकर स्वयं की उपस्थिति में स्टेटिक मजिस्ट्रेटों को प्रश्नपत्रों के बण्डल सुपुर्द करवाए।

सीआरओ केबी अग्रवाल और सिटी मजिस्ट्रेट सुभाषचन्द्र प्रजापति ने अपनी देखरेख में अधिकारियों को बण्डल सौंपे। परीक्षा के दौरान डीएम व एसपी ने भ्रमणशील रहकर परीक्षा का जायजा लिया। डीएम ने शहीदे आजम सरदार भगत सिंह इन्टर कालेज, एलबीएस पीजी कालेज, एम्स इन्टर नेशनल, फामिता इन्टर कालेज सहित अन्य परीक्षा केन्द्रों का दौरा कर परीक्षा पर नजर बनाए रखी। परीक्षा के दौरान जिला प्रशासन द्वारा यातायात व्यवस्था के भी व्यापक प्रबन्ध किए गए थे।