पिछले 4 साल में बांटे गए 10 करोड़ LPG कनेक्शन— पीएम मोदी

गरीबों, दलितों के घरों में आसानी से भोजन बन सके, इसलिए उज्जवला योजना की शुरुआत की गई।

नया लुक टीम, नई दिल्ली। आज प्रधानमंत्री मोदी उज्ज्वला योजना की लाभार्थी महिलाओं से वीडियो कांफ्रेस में बातचीत के दौरान कहा कि देश में एलपीजी गैस की शुरुआत आज़ादी के बाद हो गयी थी लेकिन 2014 तक 13 करोड़ परिवारों तक एलपीजी कनेक्शन पहुंचा था। उन्‍होंने कहा कि पिछले चार वर्ष में ही हमारी सरकार ने 10 करोड़ नए एलपीजी कनेक्शन दिए हैं। जितना काम 60-70 वर्ष में हुआ उतना हमने सिर्फ चार वर्षों में कर दिया। उन्होंने कहा कि गरीबों, दलितों के घरों में आसानी से भोजन बन सके, इसलिए उज्जवला योजना की शुरुआत की गई। हमारी सरकार चाहती है कि जिस गैसे-चूल्हे से बड़े-बड़े घरों में खाना बनता है, ठीक उसी तरह गैस-चूल्हे से गरीबों और दलितों के घरो में भी खाना बने।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने महिलाओं और बच्चों को रसोई के धुंए से बचाने के प्रयास तेज किए हैं। इस दौरान अपने बचपन की यादों को साझा करते हुए मोदी ने कहा कि उन्होंने भी अपनी मां को रसोई में चूल्हे में लकड़ी और गोबर के उपलों से उठने वाले धुंए के साथ संघर्ष करते देखा है। पीएम मोदी ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि जल्द ही हम सभी परिवारों तक खाने बनाने के लिए LPG गैस कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य लेकर चल रहे है। उन्‍होंने कहा कि लकड़ियों के लिए वनों का कटाव भी कम हुआ है। स्वच्छ ईंधन स्वस्थ भारत, ग्रामीण गरीब महिलाओं का सशक्तिकरण हुआ है और ये उन महिलाओं से बेहतर कौन बता सकता है, जिन्होंने कई वर्ष चूल्हा फूकते-फूकते निकाल दिया।