छः वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

अभिषेक उपाध्याय

जौनपुर। मुंगराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के पकड़ी मुहल्ला निवासी एक परिवार की एक छ: वर्षीय मासूम बच्ची को बहला-फुसलाकर उसके साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी को बीते सोमवार की देर रात पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

बताते चलें कि पीड़िता के पिता जिला बीरभूमि पश्चिम बंगाल का निवासी है, जो अपने परिवार सहित मुंगराबादशाहपुर नगर के स्टेशन रोड के निकट झोपड़पट्टी में रहता है। उसके परिजन कबाड़ बिनकर अपना जीवन यापन करते है। बीते सोमवार को प्रातः लगभग नौ बजे पीड़ित का भाई व पीड़ित लड़की दोनों कूड़े के ढेर से कबाड़ बीन रहे थे। इसी बीच वहां स्टेशन रोड के पास का ही लाला पुत्र रमेश पहुंचा और पीड़िता के भाई को चार रुपए गुटका लाने के लिए दिया। जब वह गुटका लाने के लिए चला गया तो लाला मासूम बच्ची को लेकर कहीं गायब हो गया। सोमवार की सायं मासूम बच्ची गरियाव रेलवे क्रॉसिंग के पास बने प्रतीक्षालय में अचेतावस्था में पड़ी मिली तो ग्रामीणों ने इसकी शिकायत डायल 100 पर की।

सूचना मिलने पर पीआरबी के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और मासूम बच्ची को ले आकर उसके माता-पिता को सौंप दिया। रात लगभग नौ बजे जब लड़की शौच के लिए उठी तो उसके निजी अंग से अत्यधिक रक्तस्राव हो रहा था। जिसे देख परिजनों के होश उड़ गए। परिजन तत्काल इसकी सूचना स्थानीय थाने पर आकर दिए तो पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। प्रभारी निरीक्षक शशिभूषण राय तुरंत पीड़ित को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुंगराबादशाहपुर पहुंचे जहां चिकित्सकों ने पीड़ित मासूम बच्ची की हालत नाजुक देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद उसे तत्काल जिला महिला चिकित्सालय रेफर कर दिया।

घटना की सूचना मिलते ही रात लगभग 12 बजे पुलिस उपाधीक्षक मछलीशहर अवधेश कुमार शुक्ल मौके पर पहुँचे और प्रभारी निरीक्षक शशि भूषण राय कांस्टेबल फूल चंद्र मिश्र, आनंद प्रकाश, विमल द्विवेदी एवं अमित सिंह की टीम बनाकर तत्काल आरोपी की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिया। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि घटना को अंजाम देने वाला आरोपी स्टेशन के पास कहीं भागने की फिराक में खड़ा है।

सूचना मिलते ही प्रभारी निरीक्षक शशिभूषण राय अपने हमराहियों के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे और आरोपी को गिरफ्तार कर पीड़ित के भाई से उसकी पहचान कराए। पहचान में आरोपी की पुष्टि हो जाने पर आरोपी लाला के विरुद्ध पीड़िता के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध धारा 376 आईपीसी व 3/4 पास्को एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर आरोपी को जेल भेज दिया।