जमीनी विवाद को लेकर महिला की निर्मम हत्या

नरेंद्र गुप्ता

गोंडा। उत्तर प्रदेश के जनपद के इटियाथोक थाना कोतवाली के रनिया पुर गांव एक महिला की निर्मम हत्या कर दी गयी । मिली जानकारी के अनुसार 13 अप्रैल को लगभग 4 बजे गीता देवी पत्नी तेजराम खेत की तरफ गयी थी ।काफी समय तक वह लौट कर नही आई ,काफी खोज बीन करने के बाद न मिलने पर इसकी जानकारी पुलिस को दी गयी मौके पर पहुँची पुलिस ने खोज बीन करने के बाद खेत के पास पुलाव से ढकी लाश मिली जिसे पंचनामा कर पीएम के लिये इटियाथोक पुलिस ने भेज दिया ।

उसके बाद छान बीन शुरू की तो यह तथ्य सामने आया कि गीता नाम की महिला का उसके देवर व ससुर से जमीन को लेकर विवाद चल रहा था ,उसी को लेकर आये दिन विवाद चल रहा था ।महिला का पति बाहर कमाने के उद्देश्य से रह रहा है ।इस बारे में प्रभारी निरीक्षक विद्या सागर वर्मा ने बताया है कि पुलिस को लगभग 12 बजे का आस पास जानकारी मिली ।मौके पर पहुँची पुलिस ने शव को बरामद का पूछ ताछ की तो जमीनी विवाद को लेकर मृतक महिला व उसके देवर में बाता कहनी में उसके हाथों से महिला की मौत हो गयी ।मारने के लिये कुलाड़ी व ईट का प्रयोग किया गया है ।

वही मृतका के पिता ने थाने पर प्राथना पत्र में चार लोगों का नाम दर्ज कराया है ।जिसमे नान बाबू उर्फ जेल बाबू पुत्र हीरालाल ,जैसराज पुत्र हीरा लाल ,हीरा लाल पुत्र फेरई,देवानंद पुत्र तुलाराम ।पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है ।मुकदमा अपराध संख्या 111 /19 ,धारा 302 आईपीसी के तहत दर्ज कर दो लोगो को गिरफ्तार करने की भी जानकारी मिली है वही दो लोग के अभी गिरफ्तार करने की पुष्टि नही हुई है ।इस बारे में मृतका के पिता ने बताया कि मेरी पुत्री व उसके ससुर व दो देवरो से पैतृक जमीन को लेकर विवाद था उसी के कारण इन लोगो ने मेरी पुत्री की हत्या की है ।इस हत्या से आपसी रिश्ते तार तार हो गए ।अब रिश्ते की मर्यादा की जगह धन संपत्ति सर्वोपरि हो गया है ।वही ऐसे हत्या का कही न कही हमारी न्यायिक प्रणाली को भी जाता है क्योंकि वहाँ न्याय मिलने में देरी से भी ऐसी घटनाओ की बार बार पुनरावृत्ति हो रही है ।वही घटना से क्षेत्र में तरह तरह की चर्चाएं हो रही है ।इस घटना की निष्पक्षता से जांच करने की आवश्यकता है ।यदि घटना से सही कारणों का पता लगाना है तो ।

 

यह भी पढ़ें: