जलियांवाला बाग के शहीदों को ब्रिटेन के उच्चायुक्त ने दी श्रद्धांजलि

गौरव श्रीवास्तव

अमृतसर: जलियांवाला बाग जनसंहार की 100वीं बरसी बीत रही है और शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए भारत में ही ब्रिटेन के उच्‍चायुक्‍त सर डोमिनिक एस्क्विथ भी पहुंचे। जलियांवाला बाग गोलीकांड पीड़ि‍तों की याद में चंडीगढ़ स्थित बनवाए गए स्‍मारक पर पुष्‍पचक्र अर्पित कर उन्‍होंने शहीदों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी।

तत्पश्चात उन्‍होंने विज‍िटर बुक में जो भी लिखा, वह देश को हैरत में डाल देगा। उन्‍होंने लिखा, ‘आज से 100 साल पहले जलियांवाला बाग में जो कुछ भी हुआ था, वह ब्रिटिश इतिहास की सबसे शर्मनाक घटना थी। जो कुछ भी हुआ, उससे हमें काफी गहरा दुख हुआ है। मुझे खुशी है कि आज भारत और ब्रिटेन 21वीं सदी में आपसी साझेदारी व कूटनीतिक स्तर को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

परन्तु यह भी उल्‍लेखनीय है कि ब्रिटेन ने हालांकि इस घटना के लिये औपचारिक तौर पर माफी नहीं मांगी है, जिसकी मांग समय-समय पर उठती रही है, पर ब्रिट‍िश प्रशासन कई अवसरों पर इसे लेकर खेद जता चुका है। प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने हाल ही में ब्रिटिश संसद में ‘जालियांवाला बाग नरसंहार’ पर खेद जताया था और कहा था कि इस हत्याकांड के कारण लोगों को हुई पीड़ा का उन्‍हें अत्यन्त अफसोस है।बेशक इस तरह का नरसहांर नही होना चाहिये|