‘पहला वोट- मोदी वोट’ युवाओं को समझा गए ऊर्जा मंत्री

  • नेशन विद नमो युवा संवाद – पo श्रीकांत शर्मा के साथ
  • मंत्री ने गिनाई सरकार के पांच साल की उपलब्धियां

लखनऊ। नेशनल पीजी कॉलेज में भारतीय जनता युवा मोर्चा ने कल अपने नेशन विद नमो का पहला कार्यक्रम आयोजित किया। इसके मुख्य अतिथि थे उत्तर प्रदेश के उर्जा मंत्री पंडित श्रीकांत शर्मा। वहां युवा मोर्चा के पदाधिकारी देवेन्द्र पटेल, कमलेश मिश्रा और राहुल राज आदि उपस्थित थे। इसके अलावा कार्यक्रम में 250 से अधिक कॉलेज के विद्यार्थी भी उपस्थित थे।

कार्यक्रम की शुरुआत में श्रीकांत शर्मा  ने दीप प्रज्ज्वलित किया, उसके बाद युवा मोर्चा ने नेशन विद नमो पर एक संक्षेप प्रेजेंटेशन दिया। जिसमें यह बताया गया की नेशन विद नमो भारतीय जनता युवा मोर्चा की एक ऐसी पहल है, जिसका उद्देश्य भारत के शिक्षित युवाओं का एक ऐसा नेटवर्क बनाना है जो सक्रिय रूप से राजनीति से नहीं जुड़ना चाहते हैं और नरेन्द्र मोदी को साल 2019 में दोबारा प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं।

नेशन विद नमो से जुड़ने के लिए उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा जी ने युवाओं को 80007 80007 पर मिस्ड कॉल करने के लिए एवं www.nationwithnamo.comपर लोगों को रजिस्टर करने के लिए प्रेरित किया | प्रेजेंटेशन में बताया गया कि कॉलेज के छात्र नेशन विद नमो के वालंटियर बनकर युवा मोर्चा और भाजपा से जुड़ सकते हैं एवं नेशन विद नमो के कैंपस एम्बेसडर बनकर भाजपा के चुनावी अभियानों में अधिक सक्रिय भूमिका निभा सकते हैं। शर्मा ने वहां उपस्थित युवाओं को नेशन विद नमो की वेबसाइट पर जाकर अपना ‘पहला वोट मोदी को’ देने के लिए भी प्रेरित किया |

श्रीकांत ने विस्तार में मोदी सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया। उन्होंने बताया की देश में स्वच्छ भारत योजना के तहत 9 करोड़ शौचालय बनवाए गए। चार करोड़ घरों में सौभाग्य योजना के तहत बिजली पहुंचाई गई, जिसमे से 50 प्रतिशत घर उत्तर प्रदेश के ही हैं। पांच करोड़ से अधिक घरेलु महिलाओं को उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किये हैं और आयुष्मान भारत की बात करते हुए कहा कि गरीबी रेखा के नीचे आने वाले लोग पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ बीमा मुफ्त में ले सकते हैं।

बेरोज़गारी की समस्या से निवारण पाने के लिए उनकी सरकार बाहरी निवेश राज्य में लाने की भी योजनायें बना रही है। नोएडा में उनकी सरकार ने सैमसंग प्लांट लगवाया है, जिसके माध्यम से उत्तर प्रदेश के 70000 युवाओं को नौकरी मिलेगी।