पीएम ने एमएसएमई में सहूलियत दे करोड़ों युवाओं को दिया रोजगारः श्रीवास्तव

  • एक करोड़ तक कर्ज एक घण्टे से भी कम समय में
  • ब्याज में दो प्रतिशत तथा निर्यातको ब्याज पर पांच प्रतिशत की छूट

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा सूक्ष्म, लघु व मध्यम श्रेणी के उद्यमियों को ऋण हेतु आनलाइन सुविधा तथा आनलाइन पोर्टल के जरिए जीएसटी फाइलिंग आयकर रिर्टन, बैंक स्टेटमेंट को जोडकर ऋण की सुविधा एक घंटे के अन्दर प्रदान किये जाने से सूक्ष्म, लघु व मध्यम क्षेत्र में जहां उद्यमियों को बड़ी राहत मिलेगी, उद्यमिता का विकास होगा वही। इस क्षेत्र में करोड़ों रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

श्रीवास्तव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जब से देश की बागडोर संभाली सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यम को बढ़ावा देने के लिए अनेक क्रांतिकारी कदम उठाए गए है। उसी का परिणाम है कि एमएसएमई सेक्टर में 26 हजार करोड़ का कर्ज बांटा गया जिसके फलस्वरूप उद्यमिता का बड़ा विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि जिस तरह प्रधानमंत्री ने एक घंटे से भी कम समय में उद्यमियों को ऋण उपलब्ध कराये जाने की बात कही एवं एक करोड़ तक के कर्ज पर दो प्रतिशत ब्याज में छूट दिए जाने की सुविधा प्रदान की है। उसकी जितनी सराहना की जाये कम है। अब उद्यमियों को बैंक का चक्कर नहीं लगाना पडे़गा। उन्होंने कहा कि निर्यातकों को ब्याज में पांच प्रतिशत की छूट की सुविधा से निर्यातकों को ज्यादा प्रोत्साहन मिलेगा।

हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा इससे रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे तथा एमएसएमई क्षेत्र राष्ट्र की समृद्ध में बड़ी भूमिका निभायेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की परिकल्पना का नया भारत साकार होने लगा है। जिस तरह से प्रधानमंत्री महत्वपूर्ण निर्णयों से व्यापार करना हो, पहले की अपेक्षा उद्यमियों को बड़ी राहत मिली है। श्रीवास्तव ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्रों को 2.5 प्रतिशत तथा तीन प्रतिशत महिला उद्यमियों से खरीददारी सुनिश्चित किया जाना, जीएसटी रजिस्टर्ड उद्यम तथा एक करोड़ तक के कर्ज में ब्याज की दर में दो प्रतिशत की छूट। उन्होंने कहा कि टूल रूम एक की सुविधा बढ़ाकर एमएसएमई को तकनीक के स्तर पर और मजबूती प्रदान करने के लिए 6000 करोड़ का पैकेज दिया जाना इस क्षेत्र को और समृद्ध करेगा।