पूर्णिमा पर नारायणी गंडकी माता की हुई 53 वीं महाआरती

  •  सन 2014 से प्रत्येक पूर्णिमा को आयोजित की जाती है महाआरती

अरुण वर्मा/पुरूषोत्तम सुबेदी

नवलपरासी(नेपाल)। भारत नेपाल सीमा पर अवस्थित शिवालय घाट त्रिवेणी धाम नेपाल में भाद्रपद पूर्णिमा के अवसर पर नारायणी गंडकी माता की 53 वीं महाआरती कार्यक्रम का आयोजन किया गया। स्वरांजलि सेवा संस्थान एवं कोटि होम आश्रम नेपाल द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम का शुभारंभ धर्मपाल संत गुरु वशिष्ट जी महाराज, ज्योतिषाचार्य हरी मंगल प्रसाद, गायक प्रभात रंजन, मानव सेवा संगठन ट्रस्ट के अध्यक्ष रजनीश सिंह ,परमार्थ संस्थान के लेखक दिनेश मुखिया, जिला महाराजगंज उत्तर प्रदेश से आए शिक्षाविद राधेश्याम पांडेय ,गजेंद्र मोक्ष दिव्य धाम नेपाल के उत्तराधिकारी स्वामी कृष्णा प्रपन्नाचार्य जी महाराज, लक्ष्मी वेंकटेश मंदिर के पीठाधीश्वर श्री चक्रपाणि जी महाराज , चर्चित कलाकार एवं कार्यक्रम के संस्थापक डी आनंद ,भारत नेपाल मैत्री पत्रकार संघ के अध्यक्ष अरुण कुमार वर्मा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया।

संत वशिष्ठ ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण संवर्धन एवं प्राकृतिक धरोहर की रक्षा इस महाआरती का मुख्य उद्देश्य है। ज्योतिषाचार्य हरी मंगल ने बताया कि आदिकाल से पृथ्वी, जल ,अग्नि, सूर्य, चंद्रमा एवं वायु की पूजा होती आई है।

स्वरांजलि सेवा संस्थान की गायिका आशा साहू, कुमारी बबीता एवं कुमारी संगीता ने स्वागत गान गाकर आगत अतिथियों का स्वागत किया। सुर आंगन संगीत की गायिका शिखा श्रीवास्तव ने कृष्ण भजन सुनाकर दर्शकों का मन मोह लिया। पार्श्व गायक अरविंद लाल यादव ने साईं भजन गाकर शिर्डी के साईं बाबा की महिमा को सरसता के साथ प्रस्तुत किया।

रामनगर के गायक प्रभात रंजन ने नारायणी गंडकी माता की महिमा को गीतों के माध्यम से प्रस्तुत किया। मानव सेवा संगठन ट्रस्ट रामनगर द्वारा महाप्रसाद का इंतजाम किया गया था। त्रिवेणी इलाका प्रहरी कार्यालय जनपथ के सब इंस्पेक्टर टीका बहादुर कुंवर ने कहा कि इस महाआरती कार्यक्रम के आयोजन से धार्मिक आध्यात्मिक और सांस्कृतिक रिश्ते मजबूत हो रहे हैं।

चक्रपाणि महाराज ने कहा कि सिर्फ नारायणी नदी मे ही शालिग्राम देवता पाए जाते हैं। स्वामी कृष्णा प्रपन्नाचार्य ने त्रिवेणी धाम के आध्यात्मिक महत्व को प्रस्तुत किया। देर रात तक श्रद्धालु भक्तगण भक्ति प्रस्तुतियों पर झूमते रहे।

गायक एवं समाजसेवी संगीत आनंद ने समय बड़ा बलवान भजन सुनाकर सबका मन मोह लिया। मानव सेवा संगठन ट्रस्ट परमार्थ संस्थान थारू कला संस्कृति एवं प्रशिक्षण संस्थान एवं स्वरांजलि सेवा संस्थान के अधिकारियों को नारायणी गंडकी सम्मान एवं अंगवस्त्रम से सम्मानित किया गया।

इस मौके पर भारत नेपाल मैत्री पत्रकार संघ के संरक्षक रामप्रीत गुप्ता, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पुरूषोत्तम सुबेदी, महामंत्री प्रदीप गुप्ता, संगठन मंत्री जीतेन्द्र गुप्ता, मंत्री आशुतोष रौनियार, सहमंत्री विशाल रौनियार, सहमंत्री विप्लव मद्धेशिया, प्रचार प्रसार मंत्री नीरज सोनी, सदस्य अभिलाष रौनियार, सन्तोष गुप्ता , गायक शिव चंद्र शर्मा, नंद किशोर सहनी, राजेश निगम, मुन्ना गुप्ता, स्वरांजलि सरगम, अमरिंदर सिंह, प्रमोद रौनियार, सुनील चौबे, गायक दिलीप जैसवाल ,निर्मल, संजय , शिक्षा विभाग के राधेश्याम पांडे ने दिव्यांगो को भोजन कराने हेतु संस्था को अन्न दान किया। मंच संचालन डी आनंद ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन गायक प्रभात रंजन ने किया।