प्रशासन की सख्ती नाकाम, प्रयागराज, हरदोई और मुरादाबाद से कुल 39 नकलची गिरफ्तार

लखनऊ। शासन की सख्ती और प्रशासन के एहतियाती कदम उठाए जाने के बावजूद आज दो पालियों में कराई गई अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी-2018) में कई स्थानों पर सेंधमारी की कोशिशें हुईं। किसी जिले में सॉल्वर गैंग पकड़ा गया तो कहीं दूसरे की जगह परीक्षा देते फर्जी अभ्यर्थी एसटीएफ की गिरफ्त में आए। पूरे प्रदेश में परीक्षा में धांधली से जुड़े अलग-अलग मामलों में कुल 39 लोग गिरफ्तार किए गए। एसटीएफ बरेली ने मुरादाबाद के मझोला थानाक्षेत्र स्थित वीकेएस पब्लिक स्कूल में एक सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़ करते हुए छह लोगों को गिरफ्तार किया। वहीं इलाहाबाद में क्राइम ब्रांच ने अत्याधुनिक स्पाई माइक की मदद से नकल कराने वाले गैंग का खुलासा करते हुए तीन छात्राओं समेत छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। प्रयागराज के झूंसी, नैनी, सिविल लाइंस और जार्जटाउन में दूसरे की जगह परीक्षा देने वाले अभ्यर्थी सामग्री के साथ पकड़े गए। प्रयागराज में सबसे ज्यादा 10 की गिरफ्तारी हुई है।

सूत्रों ने बताया कि यूपी टीईटी को लेकर अलर्ट एसटीएफ ने सबसे पहले कोतवाली थाना क्षेत्र में चार लोगों को पकड़ा था। उनकी निशानदेही पर एसटीएफ टीम वीकेएस पब्लिक स्कूल पहुंची। एसटीएफ द्वारा पकड़े गए छह सॉल्वर मुरादाबाद, अमरोहा और जालौन के रहने वाले हैं। गिरफ्तार अभियुक्तों में एसटीएफ ने परीक्षा देते जो दो आरोपी पकड़े है, उनमें विपिन कुमार निवासी जालौन और राजपाल निवासी अमरोहा के रहने वाले हैं। गिरफ्तार अन्य अभियुक्त सचिन और जितेंद्र मुरादाबाद के मझोला थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं, जबकि सौरभ अस्थाना कानपुर और राजकुमार आदमपुर अमरोहा जिले का रहने वाला है।

सॉल्वर गैंग के सदस्य परीक्षाथीर् से ओरिजनल प्रमाण पत्र लेकर अपने पास रखते थे और टोकन मनी के तौर पर एक लाख रुपये जमा कर लेते थे। गिरफ्तार सदस्यों से उनके अन्य साथियों की जानकारी जुटाई जा रही है। एसटीएफ की कई टीमें जिले में लगातार दबिश दे रहीं है।आरोपियों के पास से एक कार, आधार कार्ड और अन्य दस्तावेज बरामद हुए है जिनकी जांच की जा रही है।

इसके अलावा हरदोई में पुलिस ने पांच सॉल्वर व तीन मास्टरमाइंड पकड़े। पांच थानों की पुलिस ने खुफिया तंत्र के साथ मिलकर इन सभी को दबोचा। उरई जिले में भी एक मुन्ना भाई को पकड़ा गया। वह डीवीसी के परीक्षा केंद्र में दूसरे अभ्यर्थी की कॉपी लिख रहा था। उसके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इसी तरह बुलंदशहर में तीन सॉल्वर समेत पांच लोग धरे गए। तेजेन्द्र पुत्र देवेन्द्र निवासी सलेमपुर, कपिल पुत्र ब्रह्मवीर निवासी सलेमपुर तथा बबलू पुत्र रामजीलाल निवासी अलीगढ़ को पुलिस ने दूसरे के स्थान पर परीक्षा देते गिरफ्तार किया। तीन अभ्यर्थियों की आयु संदिग्ध पाए जाने पर जांच के आदेश दिए गए। फिरोजाबाद में इस्लामिया इंटर कालेज में दो मुन्नाभाई दबोचे गए। उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। इसी जिले के ज्ञान सरोवर इंटर कॉलेज से एक छात्र उत्तर पुस्तिका लेकर भाग गया। उसके विरुद्ध भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

उधर श्रावस्ती जिले में दूसरे की जगह परीक्षा दे रही एक महिला लेखपाल को गिरफ्तार किया गया। वाराणसी में भी एक फर्जी अभ्यर्थी को पकड़ा गया तो भदोही में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के साथ एक महिला को गिरफ्तार किया गया। मिर्जापुर में अभ्यार्थियों का फर्जी तरीके से प्रमाण पत्र सत्यापित करने के आरोप में एक चिकित्सक को गिरफ्तार किया गया। उसकी गिरफ्तारी नगर के बसंत विद्यालय इंटर कालेज केंद्र से हुई। कौशाम्बी में एक युवक को दूसरे की जगह परीक्षा देते पकड़ा गया। बिजनौर में एक व्यक्ति को फर्जी प्रश्नपत्र बेचते गिरफ्तार किया गया।