फीका पड़ गया ‘सुनहरे तेलंगाना’ का सपनाः राहुल

हैदराबाद। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) प्रमुख एवं केसीआर के नाम से लोकप्रिय कार्यवाहक मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव पर एक बार फिर हमला करते हुए सोमवार को कहा कि लोगों को समुचित पानी, संसाधनों तथा नौकरियों के साथ ‘सुनहरे तेलंगाना’ का सपना दिखाया गया जबकि वास्तव में केवल केसीआर परिवार ही संपन्न हुआ।

राहुल ने गडवाल में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि केसीआर परिवार केवल इसलिए सपन्न हुआ क्योंकि टीआरएस प्रमुख ने एक भी वादा पूरा नहीं करके लोगों के सपनों को चकनाचूर कर दिया। पांच साल पहले तेलंगाना एक धनी राज्य था लेकिन अब यह कर्ज के बोझ तले दबा हुअा है। राज्य के प्रत्येक परिवार पर एक लाख का कर्ज का बोझ है जबकि केसीआर परिवार के सदस्य पहले से काफी संपन्न हो चुके हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार ने पालमुरु-रंगा रेड्डी परियोजना के लिए 10,000 करोड़ रूपये आवंटित किये थे जबकि केसीआर ने ठेकेदारों की मदद करने के लिए पुनर्डिजाइन के नाम पर इसकी लागत बढ़ाकर 60,000 करोड़ रूपये कर दिये। राहुल ने कहा कि 30 लाख बेरोजगार युवक रोजगार की तलाश में भटक रहे हैं। उन्होंने सवाल पूछा कि केसीआर ने अपने साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में कितने रोजगार सृजित किये गये। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य के किसानों और आदिवासियों की समस्याओं का भी कोई समाधान नहीं किया गया।

कांग्रेस अध्यक्ष ने श्री चंद्रशेखर राव की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि दो बेड रूम वाले घर देने का अपना वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस सत्ता में आई तो वह लोगों को अपना घर होने के सपने को पूरा करने में तीन लाख रुपये तक की मदद देगी। श्री गांधी ने वादों का पिटारा खोलते हुए कहा कि जिन लोगों का पेंशन रद्द किया गया है उनका पेंशन फिर से शुरु किया जाएगा। इसके अलावा प्रत्येक व्यक्ति के लिए पांच लाख की अरोग्यश्री योजना शुरू की जाएगी।

श्री गांधी ने कहा कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनताति को जनसंख्या के आधार पर आरक्षण दिया जाएगा। इस अवसर पर तेलंगाना जन समिति के प्रमुख कोदनदरम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष उत्तम कुमार ने भी समारोह को संबोधित किया।