बुलंदशहर में गोकशी के शक में बवाल, इंस्पेक्टर की गोली लगने से मौत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में सोमवार को गोकशी के शक में लोगों न जमकर हंगामा हुआ। यहां गुस्साए लोगों ने चिंगरावठी चौराहे पर हंगामा करते हुए पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान उपद्रवियों ने कई वाहनों में तोड़फोड़ और आगजनी की।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, स्याना स्थित एक गांव के खेत में गोवंश मिलने बाद गुस्साए लोगों ने वहां जाम लगा दिया था। वहीं पुलिस जब म हटाने पहुंची तो भीड़ के साथ संघर्ष शुरू हो गया। ऐसे में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए गोली चला दी, जिसमें एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके बाद भीड़ आग बबूला हो गई और उसने चौकी पर हमला कर दिया।

इस दौरान भीड़ में मौजूद कुछ अराजकतत्वों ने पुलिस के एक वाहन में आग लगा दी और पुलिसकर्मियों पर फायरिंग कर दी। इस दौरान स्याना कोतवाली के प्रभारी सुबोध कुमार सिंह की गोली लगने से मौत हो गई। वहीं पथराव में एक इंस्पेक्टर सहित कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

बुलंदशहर में इन दिनों अल्पसंख्यक समुदाय का इज्तेमा (धार्मिक सभा) भी चल रहा है, जहां लाखों लोगों के जुटने का अनुमान है। ऐसे में स्याना कोतवाली क्षेत्र स्थित चिंगरावठी इलाके की इस घटना से पूरे क्षेत्र में तनाव का माहौल है। वहीं हालात को काबू में रखने के लिए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। बवाल के बाद मौके पर आईजी मेरठ जोन घटनास्थल पर रवाना हो गए हैं। एडीजी ला एण्ड आर्डर के अनुसार गाँव वालों ने गोवंश के अवशेष ट्रैक्टर ट्राली पर लादकर गौवंश के अवशेष चौकी पर पहुँच गए। चौकी पर पुलिस के लोगों ने समझाने की कोशिश की परन्तु मामला ना बन सका।

बवाल शुरू हुआ, ग्रामीणो की ओर से कट्टे आदि से फायर शुरू हो गयी, जवाब में पुलिस ने भी गोली चलायी। इसी बीच कोई गोली इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के सर में लग गयी। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनको मृत घोषित कर दिया गया। इस मामले की जांच शुरू हो गयी है। एसआईटी गठित कर दी गयी है। आईजी रेंज मेरठ इसके अध्यक्ष होंगे।

एडीजी इंटेलीजेंस को भी जांच के लिए भेजा जा रहा है। जांच दो अलग-अलग मामलों पर की जायेगी। पहला गोवंश के अवशेष और ग्रामीणों के आक्रोश को लेकर, दूसरा इंस्पेक्टर की मौत को लेकर….। इस मामले में कुछ वीडियो सामने आये हैं। जिनमे से असामाजिक तत्वों को चिन्हित किया जा रहा है। सभी पहलुओं की जांच की जायेगी। बुलंदशहर के स्याना थाने में हुई यह घटना जिस स्थान पर हुयी वह जगह जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर है।

गौरतलब है कि आज बुलंदशहर में गौवंश के अवशेष सड़क पर मिलने के बाद मचे बवाल में एक इंस्पेक्टर की गोली लगने से मौत हो गई। हंगामा उस वक्त शुरू हुआ जब गौवंश के अवशेष सड़क पर मिलने के बाद कुछ संगठन इसका विरोध करते हुए सड़कों पर उतर आए। प्रदर्शनकारी इस मामले के आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे।

उसी दौरान गुस्साए लोगों ने चिंगरावटी चौराहे पर हंगामा करते हुए पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने जब उपद्रवियों पर कार्रवाई की तो उग्र भीड़ ने तोड़फोड़ शुरू कर दी। इस दौरान हुई फायरिंग में स्याना कोतवाली प्रभारी सुबोध कुमार सिंह की गोली लगने से मौत हो गई और कुछ पुलिसवाले घायल हो गए। गोली लगने से एक ग्रामीण के भी घायल होने की सूचना है। घटना की सूचना मिलते ही इलाके में बारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।