बैंक का पूरा कर्ज (मूलधन) चुकाने को तैयार है शराब कारोबारी-माल्या

नई दिल्ली। देश के भगोड़े आर्थिक अपराधी एवं शराब कारोबारी विजय माल्या ने कहा है कि वह बैंकों का सौ फीसदी कर्ज चुकाने को तैयार है। माल्या ने ट्रवीट कर कहा कि वह बैंकों से लिए गए ऋण का सौ फीसदी लिए मूलधन को लौटाने के लिए तैयार हैं, लेकिन वह ब्याज नहीं चुका सकते हैं। उन्होंने कहा कि राजनीतिज्ञ और मीडिया मुझे लगातार सार्वजिक क्षेत्र के बैंकों से पैसा लेकर भागने वाले अपराधी के रूप में पेश कर रहे हैं। यह पूरी तरह से झूठ है। मुझे नहीं पता कि कर्नाटक उच्च न्यायालय के समक्ष ऋण निपटारे के प्रस्ताव पर निष्पक्ष रूप से कार्यवाही क्यों नहीं की गई?

कुछ दिनों पहले मुंबई की विशेष धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) अदालत ने विजय माल्या को भगोड़ा घोषित करने की प्रवर्तन निदेशालय के आवेदन पर सुनवाई से रोक लगाने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी है। ईडी ने मांग की थी कि ब्रिटेन में मौजूद माल्या को आर्थिक भगोड़ा अपराधी (एफईओ) घोषित किया जाए और उसकी संपत्ति जब्त कर नए एफईओ अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार केंद्र सरकार के नियंत्रण में लाया जाए।

ईडी ने कहा कि माल्या प्रत्यर्पण कार्यवाही को और लंबा खींचना चाहता है और जमानत शर्तों का उपयोग केवल भारत आने से बचने के लिए कर रहा है। ईडी ने कोर्ट से कहा कि माल्या को वापस भारत लाने का एकमात्र तरीका एफईओ घोषित करना है। ईडी ने कोर्ट से कहा था कि माल्या न तो भारत आना चाहते हैं और न ही उनकी मंशा बैंक से लिए कर्ज को चुकाने की है।