नेपाल में बाढ़ का दोषी भारत:थापा

  •  भारत द्वारा बांधो को सामान्य से ऊपर बनाना समस्या का कारण
  •  भारत नेपाल की संयुक्त टीम ने लिया 7 स्थलों का जायजा 

नयालुक, नवलपरासी।

नेपाल के विभिन्न हिस्सों में आई प्रलयकारी बाढ़ को लेकर भारत-नेपाल की संयुक्त बाढ़ व डुबान व्यवस्थापन टीम ने नेपाल के प्रभावित 7 स्थलों का जायजा लिया जिसमें बाढ़ का कारण भारत द्वारा अपने क्षेत्रों में बनाएं गए ऊंचे बांध सहित विभाग की लापरवाही का होना बताया गया। वही भारतीय अधिकारियों ने इस समस्या के समाधान के लिए त्वरित काम किये जाने का आश्वासन दिया। इस बात की जानकारी जल उत्पन्न प्रकोप व्यवस्थापन विभाग के उप महानिदेशक  प्रदीप थापा ने दी।
मिली जानकारी के अनुसार सीज़न के पहली बरसात में ही नेपाल के तराई क्षेत्रों में भयंकर बाढ़ आयी हुई है। जिससे आम लोगो का जीना दूभर हो गया। बाढ़ की इस हालात हो लेकर नेपाली सरकार व अधिकारी चिन्तित है। नेपाली पक्षों ने बाढ़ के इस हालात की जिम्मेदारी भारत पर थोपी है। भारत-नेपाल की संयुक्त टीम ने बाढ़ प्रभावित 7 जिसमें सप्तरी, सिहारा, कमला बैरेज, महोत्तरी, रोहतक, बागमती सहित सर्लाही क्षेत्रों का भ्रमण किया गया। जिसमें भारत के द्वारा बनाये गए ऊंचे बाँध सहित मानक के विपरीत कराये गए काम को कसूरवार ठहराया गया। भारतीय पक्ष के अधिकारियों ने समस्याओं का गंभीरता से संज्ञान ले अविलम्ब इसपर काम कराने की बात कही।  इस बात की जानकारी जल उत्पन्न प्रकोप व्यवस्थापन विभाग के उप महानिर्देशक प्रदीप थापा ने दी।