मुरझाया कमल, लहराया हाथः मध्यप्रदेश में कांटे की टक्कर

लखनऊ। पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावमें वोटों की गिनती जारी है। राजस्थान, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बढ़त बना रखी है।तो मध्यप्रदेश विधानसभा में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच कांटेकी टक्कर है। मिजोरम विधानसभा चुनाव में एमएनएफ तकरीबन बहुमत के करीब हैं वहीं कांग्रेसके सीएम लाल थनहवला ही चुनाव हार चुके हैं। इसके अलावा तेलंगाना में केसीआर की पार्टीटीआरएस आगे है और वह दूसरी बार राज्य में सरकार बनाती नजर आ रही है।

मध्य प्रदेश में 15 साल से बीजेपी की सरकार है और 13 साल से शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री हैं। राजस्थान में पिछले पांच सालों से वसुंधरा राजे की सरकार है। वहीं छत्तीसगढ़ में डॉ रमन सिंह की सरकार पिछले 15 बरसों से है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत पार्टी के दिग्गज नेताओं ने तीनों राज्यों में जमकर प्रचार किया ताकि तीनों राज्यों में सत्ता हासिल की जा सके। वहीं बीजेपी की तरफ से स्टार कैंपेनर पीएम नरेंद्र मोदी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और अमित शाह ने चुनावी मैदान में पार्टी की कमान संभाली।

बताते चलें कि पहले पोस्ट बैलेट की गिनती हुई है और उसके बाद अन्य वोटों की गिनती शुरू हो गई है। पांचों राज्यों में किसकी सरकार बनेगी ये शाम तक साफ हो पाएगा। तेलंगाना में केसीआर की सरकार थी और उन्होंने सितंबर महीने में विधानसभा को भंग कर दिया था जिसके चलते वहां चुनाव हुए। उधर, मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है और यहां 40 विधानसभा सीटों पर 28 नवंबर को मतदान हुआ था।

मध्य प्रदेश में वोटों की गिनती जारी है और शुरुआती रुझानों में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर चल रही है।  दोपहर 12 बजे तक बीजेपी 113, कांग्रेस 107, बसपा पांच और अन्य पांच सीटों पर आगे चल रहे हैं। सुबह 10 बजे तक मध्य प्रदेश के रुझानों के अनुसार, बीजेपी 94 पर आगे चल रही है। वहीं, कांग्रेस 103 पर आगे चल रही है। बसपा 6 पर और अन्य भी छह पर आगे चल रहे है। यह सभी आंकड़ें रुझानों के अनुसार है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी, मुझे भरोसा है कि एमपी में इस बार कांग्रेस सरकार आएगी। मध्य प्रदेश की सभी 230 विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग एक चरण में 28 नवंबर को संपन्न हुई थी। यहां 230 विधानसभा सीटों पर करीब 75 प्रतिशत मतदान हुआ था। मध्य प्रदेश में सरकार की बात करें तो इस समय बीजेपी की सरकार है और शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री हैं। यहां बहुमत के लिए किसी भी पार्टी को 116 सीटों की आवश्यकता है।

राजस्थान में वोटों की गिनती जारी है। दोपहर 12 बजे तक कांग्रेस 95, बीजेपी 80, बसपा 3 और अन्य 21 सीटों पर आगे चल रहे हैं। सुबह 10 बजे तक बीजेपी 78 और कांग्रेस 101 सीटों पर आगे चल रही है। बसपा तीन और अन्य 13 सीटों पर आगे चल रहे हैं। बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि राजस्थान के शुरुआती रुझान देखे, मुझे लगता है कि वहां फिर से बीजेपी सरकार बना लेगी। सीएम वसुधरा राजे वोटिंग से पहले मंदिर में जाकर माथा टेका। राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए सात दिसंबर को वोटिंग हुई। राज्य की सभी 200 सीटों में से 199 पर मतदान हुआ। 199 विधानसभा सीटों के लिए 74.38 फीसदी मतदान हुआ। राजस्थान में इस समय बीजेपी की सरकार है और वसुंधरा राजे मुख्यमंत्री हैं। यहां बहुमत के लिए 100 सीटों की आवश्यकता है।

छत्तीसगढ़ में भी वोटो गिनती जारी है और रुझानों में कांग्रेस अभी भी आगे चल रही है। दोपहर 12 बजे तक छत्तीसगढ़ में कांग्रेस 61, बीजेपी 19, बसपा गठबंधन 10 सीटों पर आगे चल रही है। सुबह 10 बजे तक 51 सीटों पर कांग्रेस और बीजेपी 26 सीटों पर आगे चल रही है। बसपा सात और अन्य दो पर आगे चल रहे हैं। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए दो चरणों में मतदान हुए थे। यहां 12 और 20 नवंबर को छत्तीसगढ़ के लिए वोट डाले गए थे। पहले चरण में 76.39 फीसदी मतदाताओं ने और दूसरे चरण में 76.34 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाला। छत्तीसगढ़ विधानसभा की 90 सीटों के लिए कुल 76.35 फीसदी से ज्यादा मतदान हुआ। इस समय छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह हैं और राज्य में बीजेपी की सरकार है। यहां बहुमत के लिए 46 सीटों की आवश्यकता है।

तेलंगाना में दोपहर 12 बजे तक 88 सीटों पर सीटों पर टीआरएस, कांग्रेस 21, बीजेपी दो और अन्य आठ सीटों पर आगे चल रही है। सुबह 10 बजे तक तेलंगाना में केसीआर की टीआरएस 85 सीटों पर आगे चल रही है और कांग्रेस 22 सीटों पर आगे चल रही है। यहां बीजेपी छह और अन्य भी छह सीटों पर आगे चल रहे हैं। तेलंगाना विधानसभा चुनाव सात दिसंबर को सम्पन्न हुए। तेलंगाना में कुल 119 विधानसभा सीटे हैं और इन सीटों पर 67 फीसदी वोट पड़े। केसीआर ने सितंबर महीने में विधानसभा को भंग कर दिया था, जिसके बाद तेलंगाना में चुनाव हुए। यहां बहुमत के लिए 60 सीटों की आवश्यकता है।

मिजोरम में दोपहर 12 बजे तक एमएनएफ 29 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं कांग्रेस छह और बीजेपी एक सीट पर आगे चल रही हैं, अन्य चार सीटों पर आगे हैं। साढ़े दस बजे तक एमएनएफ 26 सीटों पर और कांग्रेस आठ सीटों पर आगे चल रही है। बीजेपी एक और अन्य पांच पर अन्य आगे चल रही है।मिजोरम विधानसभा चुनाव के लिए 28 नवंबर को मतदान हुए थे। मिजोरम में कुल 40 विधानसभा की सीटें हैं और यहां 73 फीसदी मतदान हुआ। यहां बहुमत के लिए 21 सीटों की आवश्यकता है। इस समय मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है।