रमजान के पाक माह में पाकिस्तान का दाता दरबार थर्राया, आठ की मौत, 25 घायल

  • आत्मघाती हमले में पुलिस की कार को बनाया निशाना
  • खतरनाक विस्फोट में तीन पुलिसकर्मी भी मारे गये

नया लुक डेस्क

लाहौर। पाकिस्तान के लाहौर में आज एशिया के सबसे बड़े सूफी दरगाहों में से एक दाता दरबार के बाहर विस्फोट में तीन पुलिसकर्मियों सहित कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई। इस हमले में 25 अन्य घायल हो गए। खबरों के मुताबिक आत्मघाती हमले में पुलिस की कार को निशाना बनाया गया जो दाता दरबार दरगाह के नजदीक खड़ी थी।

यह घटना पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर लाहौर में रमजान के पवित्र महीने में एक धार्मिक स्थल के बाहर हुई। इस शक्तिशाली में पांच पुलिसकर्मियों सहित कम से कम नौ लोग मारे गए और कई अन्य घायल हो गए। विस्फोट में दक्षिण एशिया में सबसे बड़े सूफी धार्मिक स्थल के रूप में जाने जाने वाले दाता दरबार धार्मिक स्थल के बाहर पुलिस को लेकर जा रहे एक वैन को निशाना बनाया गया।

पाक स्थित पंजाब पुलिस के महानिरीक्षक कैप्टन (रिटायर) आरिफ नवाज खान ने हमले में पुलिस बल को निशाना बनाये जाने की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि विस्फोट में तीन पुलिसकर्मी भी मारे गये। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि टीम घटना के मूल्यांकन पर काम कर रही है। अधिकारी ने बताया कि आतंकवाद विरोधी विभाग सहित सभी विभाग काम कर रहे हैं। हम नागरिकों की सुरक्षा के प्रयासों के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

पाक रेडियो ने खबर दी है कि पीएम इमरान खान ने लाहौर में दाता दरबार के बाहर विस्फोट की कड़ी निंदा की है और अधिकारियों से एक रिपोर्ट मांगी है। प्रधानमंत्री ने शोक संतप्त परिवार के प्रति दुख व्यक्त किया है और विस्फोट में घायलों को सर्वश्रेष्ठ संभावित चिकित्सा उपचार मुहैया कराने का निर्देश दिया।

लाहौर के डीसीपी सईद ने बताया कि ये एक आत्मघाती हमला था। पुलिस बल घटनास्थल पर पहुंच गया है। ट्रैफिक रोक दिया है और पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी है। धमाके के बाद मेव और जनरल अस्पताल इमरजेंसी जारी कर दी गई है। बड़ी तादाद में डॉक्टर अस्पताल में मौजूद हैं।