राजधानी लखनऊ में इस तरह याद किए गए युवाओं के प्रेरणाश्रोत..

लखनऊ। स्वामी विवेकानन्द. की जयन्ती के उपलक्ष में नेशनल पीजी कालेज, लखनऊ द्वारा 7 जनवरी से 12 जनवरी 2019 तक ‘समर्थ युवा पर्व’ का आयोजन किया जा रहा है। इस क्रम में मुख्य समारोह एक विचारगोष्ठी के रूप में आयोजित किया गया।इस विचारगोष्ठी के मुख्य अतिथि न्यायमूर्ति उच्च न्यायालय इलाहाबाद एआर मसूदी थे। श्री मसूदी ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द ने देश के युवावर्ग में आत्म सम्मान का भाव जागृत करने का प्रयास किया। इस विचारगोष्ठी की अध्यक्षता उ0 प्र0 के पूर्व पुलिस महानिदेशक श्री अतुल जी ने की। संगोष्ठी का विषय प्रवर्तन करते हुए मेजर जनरल ए0 के0 चतुर्वेदी ने कहा कि छात्र-छात्राओं को भयमुक्त होकर अपने व्यक्तित्व का विकास करना चाहिए।

 

विचारगोष्ठी के मुख्य वक्ता के रूप में पूर्व पुलिस महानिदेशक श्री सुलखान सिंह ने कहा कि शिक्षा ही वह मार्ग है जो समाज को नई दिशा दे सकता है। शिक्षा द्वारा ही नारी सशक्तीकरण किया जा सकता है। कार्यक्रम के प्रारम्भ में महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ0 नीरजा सिंह ने आगन्तुक अतिथियों का स्वागत किया तथा समर्थ युवा पर्व के समस्त कार्यक्रमों से अवगत कराया।

इस अवसर पर असिस्टेंट सोलिसिटर जनरल ऑफ इण्डिया श्री सूर्य भान पाण्डेय, लखनऊ वि0वि0 की प्रो0 शीला मिश्र, विवेकानन्द केन्द्र के संचालक श्री डी0 एन0 लाल, विवेकानन्द केन्द्र के कार्यकर्ता, महाविद्यालय के शिक्षक एवं छात्र-छात्राएँ उपस्थित थे। संगोष्ठी का संचालन हिन्दी विभाग के अध्यक्ष डॉ0 रामकृष्ण ने किया।