रामपुर में गरजे अखिलेश, कहा- सबसे झूठी पार्टी है भाजपा

  • सपा मुखिया ने कहा- चौकीदार से चौकी छीनने का चुनाव है महासमर 2019
  • डॉ. लोहिया और डॉ. अम्बेडकर के अनुयायी साथ-साथ कर रहे हैं काम

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मो. आजम खां के समर्थन में रामपुर लोकसभा क्षेत्र के शाहाबाद में आयोजित जनसभा को सम्बोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर गरजते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा की नोटबंदी का जवाब वोटबंदी से देना चाहिए। जिस प्रकार पहले चरण में वोटों की बारिश हुई है उसी प्रकार रामपुर में महागठबंधन के वोटों से ऐतिहासिक विजय होनी चाहिए।

अखिलेश ने कहा कि काम में समाजवादी सरकार का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। बुनियादी सुविधाओं सड़क, पुल सहित दवाई और ईलाज का इंतजाम पिछली समाजवादी सरकार में बेहतर हुआ था। अपराध नियंत्रण के लिए डायल 100 नं0 दुनिया का सबसे बेहतरीन इंतजाम था। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि यह चुनाव विशेष अवसर का है। अभी तक चुनाव एक ही चुनाव चिह्न और एक ही दल का होता था लेकिन इस बार महागठबंधन का चुनाव है। यह महापरिवर्तन लाने वाला गठबंधन हैं। डॉ. राम मनोहर लोहिया और डॉ. भीमराव अम्बेडकर एक साथ काम करना चाहते थे। उसी विचारधारा को आगे बढ़ाते हुए यह गठबंधन हुआ है। यही देश में परिवर्तन लायेगा। यह गठबंधन गरीबों, किसानों, आजादी के बाद अब तक हक और सम्मान से वंचित लोगों का है। लेकिन अभी यह लड़ाई अधूरी है। सामाजिक न्याय से ही महापरिवर्तन आयेगा।

यह चौकीदार की चौकी छीनने का चुनाव है। भाजपा सरकार ने ठोको नीति लागू किया जिसमें अनेक बेगुनाह मारे गये। भाजपा सबसे झूठ पार्टी है। किसान आवारा जानवरों से परेशान है। खेतों में तार लगाकर सुरक्षा की जा रही है। भाजपा का वादा 100 दिन में काला धन, अच्छे दिन, नौकरी सब झूठा निकला।  उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में नौकरियों की चोरी हो गयी, रोजगार नही है, किसानों के दुगना आय का वादा पूरा नहीं हुआ और न ही लाभकारी मूल्य मिला। अच्छे दिन भी नहीं आये। बल्कि हमारे बीच नफरत की दीवार खड़ी हो गयी जिसे खत्म करने का काम गठबंधन करेगा।

अखिलेश ने कहा कि संविधान से मिले अधिकार बचाने का यह चुनाव है। रामपुर में उर्दू दरवाजा गिरा दिया गया। उर्दू भाषा यहीं जन्मी है। यह दिलों की भाषा है। रामपुर केे सारे विकास कार्य बंद हो गये हैं। भाजपा सरकार को काम रोकने की बीमारी है। काम चालू कराने के लिए महागठबंधन को ऐतिहासिक वोटों से जिताने की जिम्मेदारी रामपुर के लोगों की है। सपा मुखिया ने कहा कि प्रधानमंत्री जी 1 प्रतिशत ताकतवर और सम्पन्न लोगों के है। जबकि यह 99 प्रतिशत लोगों का चुनाव है। हम नया प्रधानमंत्री बनाना चाहते है। भाजपा सरकार में हर दिन एक जवान शहीद हो रहा है। यह चुनाव देश की सुरक्षा और किसानों के भविष्य का हैं। भाजपा सरकार संविधान के लिए खतरा है।

इससे पूर्व रामपुर से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी पूर्वमंत्री मोहम्मद आजम खां ने चेतावनी दी कि यदि इस बार भाजपा को सत्ता से बेदखल नहीं किया गया तो न संविधान बचेगा और नहीं लोकतंत्र रहेगा। यह आखिरी चुनाव होगा। उन्होंने अल्पसंख्यकों, दलितों और पिछड़ों से एकता की अपील करते हुए  कहा कि तख्त और ताज तो बदल गया लेकिन बेईमानों का राज नहीं बदला। श्री आजम खां ने मतदाताओं से कहा कि देश का मुकद्दर उनका इंतजार कर रहा है कि उठो और झूठ बोलने वालों, धोखा देने वालों और नाइंसाफी करने वालों से बदला लो। 70 साल के बाद हमें यह बड़ा मौका मिला है।