राम मंदिर निर्माण की मांग पर दम्पति को पुलिस ने जबरन किया गिरफ्तार हुई जेल

  •  इस सरकार से तो ऐसी उम्मीद नही थी
  • राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर जा रहे थे अयोध्या

आकाश श्रीवास्तव
बाँदा। 25 नवम्बर को विश्व हिंदू परिषद द्वारा अयोध्या में आयोजित विशाल धर्म सभा में बाँदा से श्री हीरालाल त्रिपाठी  एवं श्रीमती रामकिशोरी त्रिपाठी ने अयोध्या पहुँच कर घोषणा की थी कि अगर श्री राम मन्दिर के निर्माण का मार्ग 15 जनवरी 2019 तक प्रशस्त नही होता है  तो सरयू तट पर 15 जनवरी को आत्म दाह करेंगे।
लोगों का यहाँ तक कहना है की जब से भाजपा का उदय हुआ उन्हें भाजपा को वोट देते देखा है। उन्हें ये आशा थी कि शायद उनके आराध्य श्री राम का मंदिर बन जाये किन्तु भाजपा अपने वादे से पलट गई। विहिप और भाजपा के आवाहन पर 1989, 1990 व 1992 की कार सेवा में भी वे अयोध्या गए थे।
किन्तु आज जब उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार किया तो जिले के विहिप के कुछ चाटुकार नेताओं ने मौके पर आने से भी मना कर दिया ये कहकर  कि हमें ऊपर से मना किया गया है।