वाहन स्वामियों और चालकों की हड़ताल जारी

  • आज तीसरे दिन भी नही चले वाहन यात्रियों को त्रासदी
  • भारतीय ट्रको में तोड़फोड़ दर्जनों वाहनो के शीशे तोड़े

विशाल कुमार रौनियार
नयालुक संवाददाता सोनौली/महराजगंज। नेपाल में संशोधित यातायात कानून को लेकर वाहन स्वामियों के हड़ताल दिन बुधवार को भी जारी रहा। लगातार तीन दिनों की अनिश्चितकालीन हड़ताल से आमलोगों की दिनचर्या पूरी तरह से प्रभावित हो गई है। वह बन्दी कि अवहेलना करने वाले वाहनों पर आंदोलनरत वाहन स्वामियों, ट्रक चालकों व अन्य सम्बन्धित कार्यकर्ताओं द्वारा करीब दर्जनभर वाहनों के शीशा आदि क्षतिग्रस्त किये जाने की बात सामने आ रही है। भारतीय क्षेत्र से काठमांडू जा रहे सैकड़ो भारतीय मॉलवाहक ट्रक नेपाल कस्टम के बाहर फंसे हुए है।

नेपाल में नई यातायात कानून व्यवस्था को लेकर वाहन स्वामियों और चालको का गुस्सा चरम पर है।नेपाल सरकार द्वारा दुर्घटना में मौत के बाद पुरानी कानून प्रणाली को समाप्त करते हुए सोमवार से नए कानून प्रणाली को लागू कर दिया है जिसका विरोध करते हुए इसकी वापसी तक वाहन समितियों ने नेपाल में चक्का जाम और अनिश्चित कालीन बन्द का ऐलान किया है।

नेपाल सरकार द्वारा यातायात नियम के लिए बनाया गया कानून वाहन स्वामियों और चालको को नागवार दिख रही है जिसको लेकर सोमवार से नेपाल बन्द और चक्का जाम है नियम के अनुसार आज तक सड़क दुर्घटना में मौत के बाद पीड़ित के परिजनों को पाच लाख अदा करने का कानून था जबकि अभी नेपाली वाहन से मौत के बाद दस लाख रुपये जुर्माना और चालको को दस साल की कैद तथा भारतीय वाहन से मौत के बाद बीस लाख जुर्माना और बीस साल की सजा का प्रावधान किया गया है।

सभी वाहन स्वामी एवं ट्रक, बस ,जीप आदि संगठनों ने इसका विरोध करते हुए इसके संशोधन तक नेपाल बन्द का आहवान किया है। इंस्पेक्टर बेलहिया बीर बहादुर थापा ने बताया कि कुछ अज्ञात अराजक लोगो ने भारतीय वाहनों में तोड़फोड़ किया है घटना की जाच कि जा रही है।