सट्टा बाजार का बड़ा दावाः NDA को मिल रहीं 350+सीटें

  • सपा-बसपा गठबंधन का भी पत्ता हो रहा साफ
  • यूपी में बीजेपी को मिल रहीं 66 के आसपास सीटें
  • बंगाल में अपना गढ़ नहीं बचा पा रही ममता
  • बिहार में इस बार महागठबंधन का नहीं खुल रहा खाता

अल्पना त्रिपाठी

लखनऊ। आपको यह खबर चौंकने पर मजबूर कर देगी। उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन की मजबूत दावेदारी के बाद भी यूपी में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को करीब 66 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। देश के सबसे विश्वसनीय सट्टा बाजार का दावा है कि इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में एक बार देश में कमल खिल सकता है। वहीं सूत्रों का यह भी कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी से चुनाव हार सकते हैं।

बताते चलें कि फलौदी बाजार के सट्टा बाजार को भारत का सबसे विश्वसनीय सट्टा बाजार माना जाता है। कल आईपीएल के फाइनल मैच के बारे में सट्टा बाजार ने साफ कह दिया था कि मुम्बई इंडियंस मैच जीत रहे हैं और चेन्नई सुपर किंग्स को हार का सामना करना पड़ रहा है। उनकी भविष्यवाणी बिल्कुल सटीक बैठी और रोहित शर्मा की अगुआई वाली टीम को विजेता ट्राफी मिली। उसी तरह इस बार के चुनाव के बारे में सट्टा बाजार का साफ-साफ दावा है कि पीएम मोदी की अगुआई वाली पार्टी इस बार 350 से ज्यादा सीटें जीत रही है।

बात सत्ता के गलियारों की करें तो एनेक्सी में तैनात एक अफसर दावा करते हैं कि इस बार चुनाव की शुरुआत पीएम ने की है। उनकी रैलियों के बाद ही चुनावी गर्मी सबको महसूस हुई है। वह कहते हैं कि याद करिए गठबंधन ने अपनी पहली रैली कब की। उनका दावा है कि इस बार फिर मोदी अंडर करंट हैं और चौंकाने वाले परिणाम आने वाले हैं। वहीं पुलिस महकमे के एक बड़े अफसर कहते हैं कि यूपी में गठबंधन बीजेपी को बुरी तरह पराजित करता नजर आ रहा है। फील्ड से जो रिपोर्ट आ रहे हैं उसके मुताबिक गठबंधन को करीब 40 से ज्यादा सीटें मिल रही हैं।

तरुणकांत त्रिपाठी

वहीं बीजेपी के मीडिया सम्पर्क प्रमुख तरुणकांत त्रिपाठी का कहना है कि सट्टा बाजार का दावा सही नजर आ रहा है। पांच साल की सत्ता के बाद पीएम मोदी चुनाव में आए तो गठबंधन कर जीत का दावा करने वाले लोगों का आक्रोश सड़क पर दिखना चाहिए था। लेकिन विपक्षी पार्टी के लोग अति आत्मविश्वास से चलते न तो जनता के बीच गए और न ही अपना रंग जनता के बीच बिखेर पाए। वह कहते हैं कि 23 तारीख को जनता का परिणाम आने वाला है और देखकर विपक्षियों के साथ-साथ उनके सुर में सुर अलापने वाले भी भौंचक रह जाएंगे।

वहीं बीजेपी के सह मीडिया प्रभारी हिमांशु दुबे दावा करते हैं कि इस बार यूपी में बीजेपी 74 से ज्यादा सीटें जीत रही है। वह कांग्रेस को कुल डेढ़ सीटों (रायबरेली-1 और अमेठी-आधा) पर उम्मीदवार मानते हैं। वहीं गठबंधन में मजबूत दल सपा को कुल साढ़े तीन सीटों (कन्नौज, मैनपुरी, इटावा पर एक-एक और आजमगढ़ में आधा) तक ही सीमित मानते हैं। वह कहते हैं कि इस बार चुनाव जनता ने लड़ा है और जातीय आधार पर विभाजन की साजिश रचने वाली पार्टियों को जनता ने नकार दिया है।

हिमांशु दुबे

सट्टा बाजार ने किया यह बड़ा दावा

कुल सीट = 543, भाजपा=299, सहयोगी दल = 51, कुल एनडीए = 350

महाराष्ट्र- (48) = भाजपा-25 सहयोगी-16

गुजरात (26) = बीजेपी-26

मध्य प्रदेश (29) = भाजपा-25

राजस्थान – (25) = बीजेपी -22

पंजाब (13) = भाजपा- 4 सहयोगी -2

हरियाणा (10) = भाजपा – 9

जम्मू और कश्मीर – (6) = भाजपा -3

उत्तराखंड (5) = भाजपा -3

हिमाचल प्रदेश (4) = भाजपा -3

दिल्ली (7) = भाजपा – 7

उत्तर प्रदेश (80) = भाजपा -61 सहयोगी -5

बिहार (40) = भाजपा – 16 सहयोगी -14

तमिलनाडु (39) = भाजपा -4 सहयोगी- 13

कर्नाटक (28) = भाजपा – 16

आंध्र प्रदेश – (25) = भाजपा -2

तेलंगाना (17) = भाजपा -2

केरल (20) = भाजपा -5

असम (14) = भाजपा- 8

उत्तर-पूर्व (11) = भाजपा – 5 सहयोगी -2

ओड़िशा (21) = भाजपा -13

छत्तीसगढ़ (11) = भाजपा – 7

झारखंड (14) = भाजपा – 9

पश्चिम बंगाल (42) = बीजेपी -22

गोवा (2) = भाजपा – 2

अन्य केंद्र शासित प्रदेश (6) = भाजपा -4