सावधान: सरेआम धूम रहे स्वाईन-फ्लू के संवाहक

  • प्रशासन की धज्जियां उड़ा रहे सूअर पालक
  • खुलेआम घूम रहे सूअरों से ग्रामीणों को सता रहा मौत का डर

नीरज सोनी/नया लुक संवाददाता

ठूठीबारी। स्थानीय कस्बे में सरेआम खुले में सूअरो का घूमना स्वाईन फ्लू जैसी गम्भीर बीमारी की फैलने की दावत दे रही है, जिससे ग्रामवासियों मे जान का खतरा बना हुआ है। सूत्रों के मुताबिक ठूठीवारी-नौतनवा रोड स्थित निवासी राजेश,राजू तथा अदालत जिनके पास अधिक मात्रा में सूअर हैं, जिसे खुले में घूमने के लिए छोड़ दिया जाता है, जो स्वाईन-फ्लू जैसी गम्भीर बीमारियां फैला रही हैं।

हालांकि इसकी शिकायत तहसील दिवस में तथा स्थानीय कोतवाली ठूठीबारी को लिखित रूप में दिया जा चुका है, फिर भी यह मानने को तैयार नहीं है। बावजूद इसके सूअर पालकों में कोई भय नही है। वह खुले में सूअरों को घूमने के लिए छोड़ चुके हैं। आलम यह है कि लोगों में स्वाइन फ्लू से डर का माहौल बन रहा है।

स्वाइन फ्लू के मामलों के अनुपात में मौतों की संख्या बहुत ज़्यादा है। राष्ट्रीय स्तर पर आंकड़ों को देखें तो ज़्यादातर मौतों की वजह यह रही है कि लोगों को देर से पता चलता है कि उन्हें स्वाइन फ्लू है। इस वजह से वे देर से अस्पताल जाते हैं, और तब तक उन्हें न्यूमोनिया ज़्यादा हो चुका होता है, तथा सांस की समस्या भी बड़ जाती है, और इसी वजह से उन्हें बचाना बेहद मुश्किल हो जाता है।

इस समस्या से निजात दिलाने के लिये सरकार अब कदम उठा रही है। लगातार रेडियो, स्थानीय टेलीविज़न चैनलों और अख़बारों के जरिये विज्ञापन देकर लोगों को जागरूक बनाने की कोशिश की जा रही है। कहा जा रहा है कि किसी भी तरह की सर्दी, खांसी और बुखार में सरकारी अस्पताल में जांच ज़रूर करवा लें जिससे स्वाईन-फ्लू जैसी गम्भीर बीमारियों के खतरे से बचा जा सके।