सीएम सर !, धानेपुर का यह तानाशाह दरोगा तो क़ानून को भी समझता है अपना जागीर

  • पीड़ित महिला ने हल्का दरोगा पर लगाया अभद्रता करते हुए लात घूसों से पीटने का आरोप
  • थानेदार न्याय दिलाने की बजाय दबंगों का ही दे रहे हैं साथ

एन.के मौर्य / प्रदीप यादव

गोण्डा। महिलाओं की सुरक्षा को लेकर एक तरफ जहां योगी सरकार लचर कानून व्यवस्था को देखते हुए कानून के नुमाइंदों की पेंच कसकर पीड़ित महिलाओं को  त्वरित न्याय दिलाने का निर्देश दे रही है। वहीँ एक महिला का आरोप है कि धानेपुर का बेखौफ नायब दरोगा कानून को अपना जागीर समझ कर उसे न्याय दिलाने की बजाय दबंगों से मिलकर उस पर लात घूसों की बरसात करके उसकी दुश्वारियां बढ़ाने मे जुटा हुआ है।इससे पीड़ित महिला ने एसपी को पत्र देकर न्याय की मांग की है।

कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए जहां खादी से लेकर खाकी तक भागीरथी तप करने में जुटी हुई हैं। वहीँ जिले के धानेपुर थाना क्षेत्र मे पीड़ितों की दुश्वारियां चरम पर है, जिसका ताजातारीन प्रमाण उक्त थाना क्षेत्र के ग्राम लाली पोखरा, मुजेहना का है। इस गांव की 35 वर्षीय बेबी पत्नी बुद्धू लाल ने एसपी को प्रार्थना पत्र देकर मांग की है कि उसने थाना क्षेत्र के दत्त नगर माफ़ी मे दिनांक 01 अगस्त 2017 को रूद्र गढ़ नौसी के पंडित पुरवा निवासी राम दुलारे पाण्डेय पुत्र राम मिलन से जमीन बैनामा करवाया था, जिस पर दिनांक 22 नवंबर 2018 को नींव भरकर टीन सेड लगा दिया गया, जो ग्राम मिश्रौलिया माफी निवासी 50 वर्षीय छबि लाल, 45 वर्षीय मिट्ठू लाल, 30 वर्षीय फूल चंद पुत्र राम चंद्र व राम चंद्र को नागवार गुजरा। बेबी का आरोप है कि जब वह नींव पर पानी डाल रही थी उसी वक़्त दिनांक 29 नवंबर 2018 को उक्त लोगों ने दिन मे आठ बजे पुलिस से मिलकर उसके दीवार व टीन को गिरा दिया। पीड़िता ने जब उसका विरोध किया तो उक्त लोगों ने धमकी देते हुए कहा कि जब तक तुम्हारे बगल की जमीन पर हम काबिज नही हो पायेंगे तब तक तुम्हे इस जमीन पर कदम नही रखने देंगे।

हल्का दरोगा ने महिला से अभद्रता करके कानून को किया शर्मसार

पीड़ित महिला का कहना है कि उसके आपरेशन से बच्चे पैदा हुए हैं, उसकी तबियत ठीक नही रहती, बावजूद इसके दबंगो से मिलकर हल्का दरोगा डोरी लाल ने उसे भद्दी भद्दी गालियां देते हुए लात घूसों से मारा पीटा। उसके बाद उसे गड्ढे मे धकेल दिया, इतना ही नही कानून को शर्मसार करने वाले इस दरोगा ने महिला को यह भी कहा कि तुम्हे जहाँ जाना है जाओ हमारा कुछ नही बिगाड़ पाओगी।

एसओ से मायूस होकर पीड़िता ने एसपी से भरी न्याय की हुंकार

बेशुमार दुश्वारियों को सहकर पीड़िता ने रोते हुए बताया कि सारी घटना जानने के बाद भी थानेदार टस से मस न हुए और हद तो तब हो गयी जब विपक्षियों पर कार्यवाही करने की बजाय पीड़िता को आश्वासन की घुट्टी पिलाने में लगे हुए हैं।

सीएम के सामने पीड़ित महिला खोलेगी धानेपुर थाने की कुंडली

न्याय की चाह मे दर-दर की ठोकरें खाने वाली महिला का कहना है कि फिल्हाल उसे एसपी साहब से अभी भी न्याय की उम्मीद है। बावजूद इसके अगर विपक्षियों के साथ उक्त दरोगा पर कार्यवाही न हुई तो वह शीघ्र ही न्याय प्रिय सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने पहुंचकर धानेपुर थाने की कुंडली खोलेगी। बताते चलें कि उक्त घटना से पीड़ित महिला काफी सहमी हुई है। कहीं ऐसा न हो कि समय रहते अगर कानून के रखवाले न जागे तो यहाँ का प्रकरण अनहोनी घटना का सबब बन जाए।