हारकर भी पीवी सिंधु ने रचा इतिहास

नया लुक टीम, नई दिल्ली। भारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधु को बैडमिंटन के महिला सिंगल्स के खिताबी मुकाबले में वर्ल्ड नंबर वन ताइ जू यिंग से सीधे सेटों में हार का सामना करना पड़ा। इसके बावजूद वह इतिहास रचने में कामयाब रहीं। सिंधू भारत की पहली बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं जिन्होंने एशियन खेलों में सिल्वर मेडल जीता हो। सिंधू को फाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताइ जू यिंग के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। ताइपे की जू यिंग ने 21-13 आैर 21-16 से मैच जीतकर गोल्ड मेडल जीता।
भारत ने पहली बार एशियाई खेलों में बैडमिंटन में दो एकल पदक जीते हैं। साइना को सेमीफाइनल में ताइ ने ही हराया था। सिंधू इससे पहले गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के फाइनल में साइना से हारी थी जबकि विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में उसे स्पेन की कैरोलिना मारिन ने मात दी थी । वह इस साल इंडिया ओपन फाइनल में बेवेन झांग से और थाईलैंड ओपन में नोजोमी ओकुहारा से हारी थी।
इससे पहले भारत की साइना नेहवाल को सेमीफाइनल में विश्व की नंबर-1 चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से शिकस्त झेलनी पड़ी। हालांकि, 18वें एशियाई खेल में साइना ब्रॉन्ज मेडल जीतने में सफल रहीं। भारतीय शटलर जीबीके स्टेडियम में शीर्ष वरीय ताई जू यिं के हाथों सीधे सेटों में 17-21, 14-21 से पराजित हुईं।