रायबरेली।अदिति सिंह पर हमले से भड़कीं प्रियंका गांधी, कहा- योगी सरकार, गुंडों की सरकार

रायबरेली। यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने रायबरेली में जिला पंचायत अध्यक्ष के अविश्वास प्रस्ताव से पहले मंगलवार को रायबरेली में हुए बवाल पर कहा कि सदर विधायक अदिति सिंह की गाड़ी तेज रफ्तार में होने के कारण पलटी थी। उन पर हमले की बातें बेबुनियाद हैं। मामले में मजिस्ट्रेटी जांच की जा रही है जो भी आरोपी होंगे बख्शे नहीं जाएंगें। दिनेश शर्मा भाजपा मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज रायबरेली पहुंची और तिलक भवन में जिला पंचायत सदस्यों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना और उनके साथ बैठक की।

प्रियंका ने पंचायत सदस्यों व पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि जो भी हुआ वह बेहद गलत था यह मेरी लड़ाई है आप लोग परेशान न हों। उनसे मिलने के लिए अदिति सिंह भी पहुंची। अदिति सिंह ने आरोप लगाया था कि उन पर जानलेवा हमला किया गया।उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि जिला पंचायत में कांग्रेस के दो पक्षों में ही मतभेद रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल जिला प्रशासन से मिला था और सुरक्षा की मांग करने पर पीएसी तैनात की गई। जिला प्रशासन ने पूरी मदद की।शर्मा बोले, मोदी पक्ष में माहौल होने से घबरा गया है विपक्ष दिनेश शर्मा ने कहा कि चुनाव का आखिरी चरण बाकी है। इस समय भाजपा के पक्ष में जैसा माहौल है उससे विपक्ष घबरा गया है। मायावती प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत आरोप लगा रही हैं तो सपा ईवीएम खराब होने की बात कह रही है। उन्होंने मायावती को सलाह दी कि संयम न खोएं। जो भी राजनीतिक रूप से कमजोर होते हैं उन्हें पॉलिटिकल टॉनिक की जरूरत पड़ती है।

प्रियंका गांधी के बयान पर शर्मा ने कहा कि यूपी में कांग्रेस को गठबंधन में जगह नहीं मिली। बंगाल में टीएमसी ने भाव नहीं दिया। इसलिए वह हताश हैं। उन्होंने कहा कि रायबरेली में हुई हिंसा में एमएलसी दिनेश सिंह की कोई भूमिका नहीं है।पश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि ममता बनर्जी को भारत के लोगों पर नहीं बल्कि बांग्लादेशियों पर भरोसा है। आपको बता दें कि कल अदिति सिंह पर हमला हुआ था और उनके काफिले में शामिल सात में से चार वाहनों को पलट दिया गया था।

इसके अलावा, लखनऊ-इलाहाबाद राजमार्ग पर निगोहां में स्थित टोल प्लाजा पर जिला पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी को अगवा कर हॉकी, सरियों से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया गया। उनके सिर व शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोटें आई हैं। प्रियंका राकेश अवस्थी से मुलाकात करने लखनऊ पीजीआई भी जा सकती हैं। मामले में एमएलसी समेत 13 पर मुकदमा दर्ज किया गया है।पंचायत सदस्य ने ये दिया था बयान,खीरों क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी ने दर्ज कराए गए मुकदमे में बताया कि वे जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर वोट देने के लिए जिला मुख्यालय जा रहे थे। निगोहां टोल प्लाजा पर उनपर हमला किया गया।पथराव व फायरिंग भी की गई। इसके बाद जबरन उन्हें दूसरी गाड़ी में बैठा लिया गया। इसी बीच विधायक अदिति काफिले के साथ जिला मुख्यालय आ रही थीं।

हरचंदपुर थाना क्षेत्र के कठवारा गांव में भी फायरिंग और पथराव किया गया। यही नहीं उनके व अदिति के काफिले में शामिल रहीं सात गाड़ियों में से चार को पलट दिया गया। अदिति का कहना है कि उन्हें जान से मारने की नीयत से हमला किया गया था।राकेश ने हमले को लेकर हरचंदपुर थाने में एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष व उनके भाई गणेश सिंह समेत छह नामजद और छह-सात अज्ञात हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। दिनेश प्रताप सिंह रायबरेली से भाजपा लोकसभा प्रत्याशी हैं।थोड़ी-बहुत मारपीट हुई है,मामले पर लखनऊ परिक्षेत्र के आईजी एसके भगत ने कहा कि थोड़ी-बहुत मारपीट हुई है। कुछ डीडीसी सदस्य बैठाए गए हैं। सूचना मिलने पर कमिश्नर के साथ मौके पर पहुंचा। डीएम और एसपी से पूरी रिपोर्ट ली है। जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसके लिए एसपी को निर्देश दे दिया गया है।उन्होंने आगे कहा कि जिला पंचायत सदस्यों ने आरोप लगाया है कि कुछ सदस्य गायब हैं। कार्रवाई की जा रही है। जहां मतदान होना था वहां पुलिस बल लगाया गया था। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है। अभी तक जिला पंचायत सदस्य नहीं मिले हैं।